कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आपात बैठकः पांच बड़ी ख़बरें

  • 16 अगस्त 2019
कश्मीर इमेज कॉपीरइट Getty Images

कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र की आपात बैठक

भारत प्रशासित कश्मीर से विशेष दर्जा वापस लेने के भारत के क़दम पर संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद शुक्रवार को बंद कमरे में बैठक करेगी.

न्यूज़ एजेंसी एएफ़पी को राजनयिकों ने यह जानकारी दी है. उनके अनुसार सुरक्षा परिषद के मौजूदा अध्यक्ष पोलैंड ने सुबह 10 बजे (1400 जीएमटी) इस मुद्दे को चर्चा के लिए सूचीबद्ध किया है.

वहीं विवादित क्षेत्र कश्मीर को बांटने वाली नियंत्रण रेखा पर भारत और पाकिस्तान के बीच भारी गोलाबारी हुई है.

पाकिस्तान का कहना है कि नियंत्रण रेखा पर भारत की ओर से की गई गोलाबारी में तीन पाकिस्तानी सैनिक मार गए हैं.

पाकिस्तान ने पांच भारतीय सैनिकों के मारा जाने का दावा भी किया जिसे भारत ने ख़ारिज कर दिया.

भारत प्रशासित कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के बाद से ही दोनों देशों के बीच तनाव भी बढ़ा हुआ है.

इमेज कॉपीरइट PTI

जम्मू-कश्मीरः अनुच्छेद 370 पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करने और मीडिया के काम करने पर प्रतिबंध लगाने के केंद्र के फ़ैसले को क़ानूनी चुनौती देने वाली याचिकाओं पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी.

यह याचिका वकील एमएल शर्मा और कश्मीर टाइम्स की कार्यकारी संपादक अनुराधा भसीन ने दायर की है जिस पर चीफ़ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस एसए बोबडे और जस्टिस एसए नज़ीर की पीठ सुनवाई करेगी.

वकील ने जहां अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करने को चुनौती दी है वहीं पत्रकार ने राज्य में मोबाइल, इंटरनेट, लैंडलाइन समेत सभी संचार सुविधाओं को बहाल करने की मांग की है ताकि मीडिया अपना काम कर सके.

इमेज कॉपीरइट @BHUPESH_BAGHEL

छत्तीसगढ़ सरकार ने आरक्षण बढ़ाने की घोषणा की

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भुपेश बघेल ने सरकारी नौकरियों और शिक्षा क्षेत्र में ओबीसी और एससी आरक्षण को बढ़ाने की घोषणा की है.

बघेल ने कहा सरकार एससी आरक्षण में एक प्रतिशत बढ़ोतरी करेगी. वहीं ओबीसी आरक्षण को 14 प्रतिशत से 27 प्रतिशत करने वाली है. इसका मतलब यह होगा कि छत्तीसगढ़ में कुल 72 प्रतिशत आरक्षण होगा.

इमेज कॉपीरइट RSS.ORG

अनुच्छेद-370 पर भागवत ने थपथपाई मोदी की पीठ

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत ने अनुच्छेद-370 को रद्द करने के फ़ैसले का स्वागत किया.

भागवत ने कहा, "यह संभव हुआ, क्योंकि पूरे समाज ने इसके प्रति दृढ़ संकल्प दिखाया."

इस दौरान उन्होंने कहा कि महापुरुषों के सपनों को साकार करने के लिए देश आगे बढ़ रहा है और आम जनता की आकांक्षाएं भारत के साथ विश्व समुदाय में नई ऊंचाइयों को प्राप्त करने के साथ पूरी होंगी.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

दक्षिण कोरिया से कभी बात नहीं करेगा उत्तर कोरिया

उत्तर कोरिया ने कहा है कि वो दक्षिण कोरिया के साथ कभी वार्ता नहीं करेगा.

उत्तर कोरिया के अधिकारिक मीडिया में प्रसारित बयान में कहा गया है कि दक्षिण कोरिया इस धोखे में न रहे कि अमरीका के साथ सैन्य अभ्यास के बाद भी वार्ता होगी.

गुरुवार को दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जाए इन के भाषण की इस बयान में तीखी आलोचना की गई है.

उन्होंने कहा था कि 2045 तक दोनों देश एक हो जाएंगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूबपर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार